हर सांस में हर बोल में har saans mein har bol mein

  हर सांस में हर बोल में

हर सांस में हर बोल में 

हरि नाम की झंकार है .


हर नर मुझे भगवान है 

हर द्वार मंदिर द्वार है ..


ये तन रतन जैसा नहीं

 मन पाप का भण्डार है .


पंछी बसेरे सा लगे 

मुझको सकल संसार है ..


हर डाल में हर पात में

 जिस नाम की झंकार है .


उस नाथ के द्वारे तू 

जा होगा वहीं निस्तार है ..


अपने पराये बन्धुओं का



 झूठ का व्यवहार है .

मनके यहां बिखरे हुये 


प्रभु ने पिरोया तार है ..

हर सांस में हर बोल में


हर सांस में हर बोल में 

हरि नाम की झंकार है .


हर सांस में हर बोल में   

हरि नाम की झंकार है


har saans mein har bol mein

 har saans mein 

har bol mein hari 

naam kee jhankaar hai 


. har nar mujhe 

bhagavaan hai 

har dvaar

 mandir dvaar hai 


 ye tan ratan

 jaisa nahin 

man paap ka

 bhandaar hai .


 panchhee basere 

sa lage mujhako 

sakal sansaar hai ..


 har daal mein har

 paat ein jis

 naam kee jhankaar hai . 

us naath ke

 dvaare too ja 

hoga vaheen nistaar hai ..


 apane paraaye

 bandhuon

 ka jhooth ka


 vyavahaar hai .

 manake yahaan

 bikhare huye 

prabhu ne piroya 

taar hai ..


 har saans mein 

har bol mein

 har saans mein

 har bol mein

 hari naam kee

 jhankaar hai .

और नया पुराने