-->

Shyam Tujhe Milne Ka Satsang Hi Bahana Hai Lyrics

 Shyam Tujhe Milne Ka Satsang Hi Bahana Hai Lyrics. श्याम तुझे मिलने का सतसंग ही बहाना है. ( Krishna Bhajan Lyrics )


Bhajan Shyam Tuje Milane Ka Satsang
Album Ram Bharoso
Singer Master Rana
Label Soor Mandir
Music Appu


Krishna Bhajan Lyrics


Shyam tumse milne ka 

satsang bahana hai

Duniya wale kya jane 

mera rishta purana hai


Jab se teri lagan lagi 

dil hua diwana hai

Shyam tumse milne ka 

satsang bahana hai


Suraj mei dhuda tujhe 

chanda mei paya hai

Taaro ki jhilmil me mere 

shyam ka besara hai

Shyam tumse milne ka 

satsang bahana hai


Phoolo me dhuda tujhe, 

bagiho mei paya hai

Kaliyo ke khushboo mei, 

mere shyam ka besara hai

Shyam tumse milne ka 

satsang bahana hai


Ganga me dhuda tujhe, 

yumuna mei paya hai

Godavari ke lehro mei, 

mere shyam ka besara hai

Shyam tumse milne ka 

satsang bahana hai


Gokul me dhuda tujhe, 

mathura mei paya hai

Vrindavan ki galiyo me,

mere shyam ka besara hai

Shyam tumse milne ka 

satsang bahana hai


Ramayan mei dhuda tujhe, 

bhagwat mei paya hai

Gita ji ke sholko mei 

mere shyam ka besara hai

Shyam tumse  milne ka 

satsang bahana hai


Jungleo mei dhunda tujhe, 

mandiro mei paya hai

Bhaghto ke dillo mei mere 

shyam ka besara hai

Shyam tumse  milne ka 

satsang bahana hai


Duniya wale kya jane 

mere rista purana hai


 Shyam Tujhe Milne Ka  Lyrics


श्याम तुझे मिलनें का सतसंग ही बहाना है

दुनियाँ वाले क्या जानें, मेरा रिश्ता पुराना है

जब से तेरी लगन लगी, दिल हुआ दीवाना है

श्याम तुमसे मिलने का



श्याम तुझे मिलनें का सतसंग ही बहाना है

दुनियाँ वाले क्या जानें, मेरा रिश्ता पुराना है

जब से तेरी लगन लगी, दिल हुआ दीवाना है,

श्याम तुमसे मिलने का


द्वारिका में ढूँढा तुझे, डाकोर में पाया है

द्वारिका के मंदिर में, मेरे श्याम  ठिकाना है

दुनियाँ वाले क्या जानें, मेरा रिश्ता पुराना है

श्याम तुमसे मिलनें का सतसंग ही बहाना है

 

सूरज में ढूँढा तुझे, चंदा में पाया है

तारों की टिमटिम में मेरे श्याम का बेसरा है

दुनियाँ वाले क्या जानें, मेरा रिश्ता पुराना है

श्याम तुमसे मिलनें का सतसंग ही बहाना है


रामायण में ढूँढा तुझे, भागवत में पाया है

गीता जी पन्नों में, मेरे श्याम का बेसरा है,

दुनियाँ वाले क्या जानें, मेरा रिश्ता पुराना है

श्याम तुमसे मिलनें का सतसंग ही बहाना है


फुलो में ढूँढा तुझे, बागियो में पाया है

कलियों की खुश्बू में मेरे श्याम का बसेरा हैं

दुनियाँ वाले क्या जानें, मेरा रिश्ता पुराना है

श्याम तुमसे मिलनें का सतसंग ही बहाना है


गंगा में ढूँढा तुझे, यमुना में पाया हैं

गोदावरी के लेहरो में मेरे श्याम का बेसरा है

दुनियाँ वाले क्या जानें, मेरा रिश्ता पुराना है

श्याम तुमसे मिलनें का सतसंग ही बहाना है


गोकुल में ढूँढा तुझे, मथुरा में पाया है

वृंदावन की गलियों में मेरे श्याम का बेसरा है

दुनियाँ वाले क्या जानें, मेरा रिश्ता पुराना है

श्याम तुमसे मिलनें का सतसंग ही बहाना है  


जंगलओ में ढूँढा तुझे, मंदिरों में पाया है

भगतो की दिलों में मेरे श्याम का बेसरा है

दुनियाँ वाले क्या जानें, मेरा रिश्ता पुराना है

श्याम तुमसे मिलनें का सतसंग ही बहाना है


Related Posts