Hamaro Man Le Gayo Re Govardhan Lyrics

हमारो मन ले गयो रे गोवेर्धन गिरधारी लिरिक्स

Hamaro Man Le Gayo Re Govardhan Girdhar Lyrics

गोवर्धन गिरधारी सखी री श्याम सुंदर वनवारी
हमारो मन ले गयो रे गोवेर्धन गिरधारी

मोर मुकट माथे तिलक विराजे
कानन कुंडल नी के ढाजे

मुख पर हंसी हाथ में बंसी देख कर सखियाँ हारी
हमारो मन ले गयो

गल वैजयन्ती माला साजे देख नासिका चन्द्र विराजे
थोड़ी पे हीरा मुख पे वीणा माखन चोर बिहारी
हमारो मन ले

गोवर्धन की लीला न्यारी माधव दास जावे बलिहारी
सात कोस परिक्रमा देवे वा की मिट जाए विपदा सारी
हमारो मन ले

Post a Comment (0)
Previous Post Next Post