Hey Dukh Bhanjan Maruti Nandan Lyrics

Hey Dukh Bhanjan Maruti Nandan Lyrics हे दुःख भंजन मारुती नंदन लिरिक्स

हे दुःख भंजन मारुती नंदन
हे दुःख भंजन मारुती नंदन
सुनलो मेरी पुकार

पवनसुत विनती बारम्बार
पवनसुत विनती बारम्बार
हे दुःख भंजन मारुती नंदन
सुनलो मेरी पुकार

पवनसुत विनती बारम्बार
पवनसुत विनती बारम्बार
अष्ट सिद्धि नव निधि के दाता
अष्ट सिद्धि नव निधि के दाता

दुखियों के तुम भाग्यविधाता
दुखियों के तुम भाग्यविधाता
(सियाराम के काज संवारे)
सियाराम के काज संवारे
मेरा कर उद्धार

पवनसुत विनती बारम्बार
पवनसुत विनती बारम्बार
हे दुःख भंजन मारुती नंदन
सुनलो मेरी पुकार

पवानसुत विनती बारम्बार
पवानसुत विनती बारम्बार
अपरंपार है शक्ति तुम्हारी
अपरंपार है शक्ति तुम्हारी

तुम पर रीझे अवधबिहारी
तुम पर रीझे अवधबिहारी
भक्ति भाव से ध्याऊँ तोहे
भक्ति भाव से ध्याऊँ तोहे
कर दुखों से पार

पवनसुत विनती बारम्बार
पवनसुत विनती बारम्बार
हे दुःख भंजन मारुती नंदन
सुनलो मेरी पुकार

पवनसुत विनती बारम्बार
पवनसुत विनती बारम्बार
जपूँ निरंतर नाम तिहारा
जपूँ निरंतर नाम तिहारा

अब नहीं छोडूं तेरा द्वारा
अब नहीं छोडूं तेरा द्वारा
राम भक्त मोहे शरण में लीजै
राम भक्त मोहे शरण में लीजै
भव सागर के तार

पवनसुत विनती बारम्बार
पवनसुत विनती बारम्बार
हे दुःख भंजन मारुती नंदन
सुनलो मेरी पुकार

पवनसुत विनती बारम्बार
पवनसुत विनती बारम्बार

Post a Comment (0)
Previous Post Next Post