Kailash Nivasi Shiv Bhajan

 

Kailash Nivasi Shiv Bhajan

 कैलाश निवासी हो  तुम तो अविनाशी हो

मरघट में भी रहके  आप घट घट के वाशी हो

जिसके तू करीब है  बड़ा खुशनसीब है

मौत भी करे क्या उसका

जो तेरे करीब है  हर हर सुखदासी हो,

प्रभु वेदप्रकाशी हो  मरघट में रहके भी

आप घट घट के वाशी हो

बदली है कितनी तूने,  फूटी तकदीरें

तोड़ डाली पल में तूने,   दुखों की जंजीरें

संकट के नाशी हो, प्रभु तुम दुखनाशी हो

मरघट में रहके भी  आप घट घट के वाशी हो

आंखों में आंसू भरके  जब कोई बुलाएगा

सुनके आहें ये भक्तों की  दौड़ा चला आएगा

विषधर सन्यासी हो, प्रभु तुम अविनाशी हो

मरघट में रहके भी  आप घट घट के वाशी हो

Kailash Nivasi Shiv Bhajan Video

Post a Comment (0)
Previous Post Next Post