मेरा साईं की कृपा से Mera Sai ki Kripa Se Bhajan

 Mera Apki Kripa Se Bhajan

मेरा साईं की कृपा से


 मेरा साईं की कृपा से

 मेरा साईं की कृपा से

सब काम हो रहा है 

करते हो साईं बाबा

मेरा नाम हो रहा है 

 मेरा साईं की कृपा से


पतवार के बिना ही, 

मेरी नाव चल रही है 

हैरान है ज़माना, 

मंज़िल भी मिल रही है 


करता नहीं मैं कुछ भी

सब काम हो रहा है

मेरा आपकी कृपा से

तुम साथ हो जो मेरे


किस चीज की कमी है 

किसी और चीज की अब

दरकार ही नहीं है

तेरे साथ से गुलाम अब


गुलफाम हो रहा है

 मेरा साईं की कृपा से

मैं तो नहीं हूँ काबिल

तेरा पार कैसे पाऊँ 

टूटी हुई वाणी से

गुणगान कैसे गाऊँ


तेरी प्रेरणा से ही

ये कमाल हो रहा हैं

 मेरा साईं की कृपा से

दुनियाँ में होंगे लाखों

तेरे जैसा कौन होगा


तुझ जैसा बंदा परवर

भला ऐसा कौन होगा

पर थामा है तेरा दामन

आराम मिल रहा है

 मेरा साईं की कृपा से


कोई नहीं था मेरा, 

फिरता था मारा मारा

बेआसरे को बाबा


तुमने दिया सहारा

तेरी बदौलतों से

सब काम हो रहा है


 मेरा साईं की कृपा से

मुझे हर कदम डगर पर

तुमने दिया सहारा 

मेरी ज़िन्दगी बदल दी

तुमने करके एक इशारा 


एहसान पे तेरा ये

एहसान हो रहा है

 मेरा साईं की कृपा से

तूफ़ान आंधियों में


तूमने है मुझको थामा

तुम कृष्णा बन के आए

मैं जब भी बना सुदामा


तेरा कर्म ये मुझ पे

सरेआम हो रहा है

 मेरा साईं की कृपा से

साईं राम बोलो

श्री साईं श्याम बोलो-धुन

Post a Comment (0)
Previous Post Next Post