तेरी तिरछी नज़र ने Teri Tirchhi Nazar Ne Kya Jadu Kiya

Teri Tirchhi Nazar Ne Kya Jadu Kiya

Teri Tirchhi Nazar Ne Kya Jadu Kiya

 तेरी तिरछी नज़र ने क्या जादू किया

 तेरी तिरछी नज़र ने क्या जादू किया

टेढ़ो सर पे मुकुट विराजे, टेढ़ी तेरी चाल

टेढ़ी तेरी बांकी अदा, मेरा ले गई चैन करार


तेरी तिरछी नज़र ने, क्या जादू किया

मेरे बस में रहा, नहीं मेरा जिया

मेरे बस में रहा, नहीं मेरा जिया।


तेरी बांकी अदा पे, फ़िदा हम हुए

तू बता अब, बिना तेरे कैसे जिए

तेरी बंसी धुन ने, है पागल किया


मेरे बस में रहा, नहीं मेरा जिया

मेरे बस में रहा, नहीं मेरा जिया


तेरे काले कटीले, ये कजरारे नैन

लूट कर ले गए है, मेरे दिल का चैन

तेरी मुस्कान ने, मुझको घायल किया


मेरे बस में रहा, नहीं मेरा जिया

मेरे बस में रहा, नहीं मेरा जिया


पूछे ‘मीनाक्षी’ कान्हा बता दे मुझे

काहे मुझ पे तरस, क्यों ना आए तुझे

कैसा जादू चला के मेरा मन मोह लिया


मेरे बस में रहा नहीं मेरा जिया

मेरे बस में रहा नहीं मेरा जिया


तेरी तिरछी नजर ने, क्या जादू किया

मेरे बस में रहा नहीं मेरा जिया

मेरे बस में रहा नहीं मेरा जिया

Post a Comment (0)
Previous Post Next Post