अवध में राम आये हैं Awadh Mein Ram Aye Hain

Awadh Mein Ram Aye Hain Lyrics

अवध में राम आये हैं

 सजा दो घर को गुलशन सा

अवध में राम आये हैं

सजा दो घर को गुलशन सा

अवध में राम आये हैं


अवध में राम आये हैं

मेरे सरकार आये हैं

अवध में राम आये हैं


मेरे सरकार आये हैं

मेरे सरकार आये हैं


लगे कुटिया भी दुल्हन सी

लगे कुटिया भी दुल्हन सी

अवध में राम आये हैं

सजा दो घर को गुलशन सा

अवध में राम आये हैं


पखारो इनके चरणों को

बहा कर प्रेम की गंगा


पखारो इनके चरणों को

बहा कर प्रेम की गंगा


पखारो इनके चरणों को

बहा कर प्रेम की गंगा


पखारो इनके चरणों को

बहा कर प्रेम की गंगा


बहा कर प्रेम की गंगा

बिछा दो अपनी पलकों को

बिछा दो अपनी पलकों को

अवध में राम आये हैं


सजा दो घर को गुलशन सा

अवध में राम आये हैं


तेरी आहट से हैं वाकिफ़

नहीं चेहरे की है दरकार

तेरी आहट से हैं वाकिफ़

नहीं चेहरे की है दरकार


बिना देखे ही कह देंगे

लो आ गए हैं मेरे सरकार

बिना देखे ही कह देंगे


लो आ गए हैं मेरे सरकार

लो आ गए हैं मेरे सरकार


दुआओं का हुआ है असर

दुआओं का हुआ है असर

अवध में राम आये हैं


सजा दो घर को गुलशन सा

अवध में राम आये हैं

अवध में राम आये हैं


मेरे सरकार आये हैं

अवध में राम आये हैं


मेरे सरकार आये हैं

मेरे सरकार आये हैं


लगे कुटिया भी दुल्हन सी

लगे कुटिया भी दुल्हन सी

अवध में राम आये हैं

सजा दो घर को गुलशन सा


अवध में राम आये हैं

अवध में राम आये हैं


मेरे सरकार आये हैं

अवध में राम आये हैं


Post a Comment (0)
Previous Post Next Post