नाम है तेरा तरण हारा Naam Hai Tera Taran Hara

Naam Hai Tera Taran Hara Lyrics

 नाम है तेरा तरण हारा  

 नाम है तेरा तरण हारा  

कब तेरा दर्शन होगा


जिनकी प्रतिमा इतनी सुंदर 

वो कितना सुंदर होगा


नाम है तेरा तरण हारा  

कब तेरा दर्शन होगा

जिनकी प्रतिमा इतनी सुंदर 


वो कितना सुंदर होगा

वो कितना सुंदर होगा


जिनकी प्रतिमा इतनी सुंदर

वो कितना सुंदर होगा


तुमने तारे लखो प्राणी

यहा सांतो की वाणी है


तेरी छवि पर वो मेरे भगवंत

यहा दुनिया देवानी है


भाव से तेरी वो हू जगा चाहू

जीवन मे मंगल होगा


जिनकी प्रतिमा इतनी सुंदर

वो कितना सुंदर होगा


जिनकी प्रतिमा इतनी सुंदर

वो कितना सुंदर होगा


सुरवार मूनिवारा जिनके चरण मे

निषदिन शीश जुकते है


जो गाते है प्रभु की महिमा

वो सब कुछ पा जाते है


अपने कष्ट मिटाने को तेरे

चरनो का वंदन होगा


जिनकी प्रतिमा इतनी सुंदर

वो कितना सुंदर होगा


जिनकी प्रतिमा इतनी सुंदर

वो कितना सुंदर होगा


मॅन की मुरते लेकर स्वामी

तेरे चरण में आए है


हम है बालक, तेरे जिनावरा

तेरे ही गुना गाते है


जिनकी प्रतिमा इतनी सुंदर

वो कितना सुंदर होगा


भाव से पर उतरने को तेरे

गीतो का स्वर-संगम होगा


जिनकी प्रतिमा इतनी सुंदर

वो कितना सुंदर होगा


जिनकी प्रतिमा इतनी सुंदर

वो कितना सुंदर होगा


नाम है तेरा तरण हरा

कब तेरा दर्शन होगा


जिनकी प्रतिमा इतनी सुंदर

वो कितना सुंदर होगा


जिनकी प्रतिमा इतनी सुंदर

वो कितना सुंदर होगा


Post a Comment (0)
Previous Post Next Post