राधे पूछ रही तुलसा से Radhe Puchh Rahi Tulsaa Se

 Radhe Puchh Rahi Tulsaa Se Lyrics

राधे पूछ रही तुलसा से

राधे पूछ रही तुलसा से

तुलसा कहाँ तेरा ससुराल ।


राधे पूछ रही तुलसा से

तुलसा कहाँ तेरा ससुराल ।


कहाँ तेरा ससुराल तुलसा

कौन तेरे भरतार ।


राधे पूछ रही तुलसा से

तुलसा कहाँ तेरा ससुराल ।


नीलगगन हैं पिता हमारे

भागीरथी हैं मात ।


वृंदावन ससुराल हमारी,

सांवरिया भरतार ।


राधे पूछ रही तुलसा से

तुलसा कहाँ तेरा ससुराल ।


बलदाऊ हैं जेठ हमारे

मात यशोदा सास ।


नंद बाबा हैं ससुर हमारे

ननद सुभद्रा मात ।


राधे पूछ रही तुलसा से

तुलसा कहाँ तेरा ससुराल ।


तुम तो राधे बगल विराजे

सुबह सींचे सब नार ।


मेरे बिना हरि भावे ना भोग

मेरी पड़े दरकार ।


राधे पूछ रही तुलसा से

तुलसा कहाँ तेरा ससुराल ।


हर की में पटरानी कुहाऊँ

हरी मेरे धन भाग ।


यही है बहना परिचय मेरा

हरी है मेरे सुहाग ।

Tulsi Vivah Geet Lyrics

Post a Comment (0)
Previous Post Next Post