सुनलो विनती दयानिधान Sun Lo Vinati Daya Nidhan

Sun Lo Vinati Daya Nidhan

सुनलो विनती दयानिधान

 एक बार तो घर में पधारो

एक बार तो घर में पधारो

हे गजानन भगवान


सुनलो विनती दयानिधान

सुनलों विनती दयानिधान


 एक बार तो घर में पधारो

एक बार तो घर में पधारो

हे गजानन भगवान


सुनलो विनती दयानिधान

सुनलों विनती दयानिधान


घट घट वासी अंतर्यामी

तीनों लोक के तुम हो स्वामी

रिद्धि सिद्धि के तुम हो दाता


सारे जग के भाग्य विधाता

आओ विराजो बिच सभा में

आओ विराजो बिच सभा में


रखना हमारा मान

सुनलों विनती दयानिधान

सुनलों विनती दयानिधान


 एक बार तो घर में पधारो

एक बार तो घर में पधारो

हे गजानन भगवान


सुनलो विनती दयानिधान

सुनलों विनती दयानिधान


माथे मुकुट चमक रहा है

कानो में हिरा दमक रहा है

भक्तो का दिल धड़क रहा है


मिलने को तुमसे तड़प रहा है

देर करो ना जल्दी आओ

देर करो ना जल्दी आओ

शिव गौरा के लाल


सुनलों विनती दयानिधान

सुनलों विनती दयानिधान


 एक बार तो घर में पधारो

एक बार तो घर में पधारो

हे गजानन भगवान


सुनलो विनती दयानिधान

सुनलों विनती दयानिधान


बैठे है हम भजन सुनाने

हे गजानन तुमको रिझाने

अटकी नैया लगा दो किनारे


तुम हमारे हम है तुम्हारे

हाथ जोड़ के ‘अर्चू’ खड़ी है

हाथ जोड़ के ‘अर्चू’ खड़ी है

Sun Lo Vinati Daya Nidhan Video 

Post a Comment (0)
Previous Post Next Post