चुरा लिया है तुमने जो दिल Chura Liya Hai Tune Jo Dil Ko

चुरा लिया है तुमने जो दिल को के बोल मजरूह सुल्तानपुरी ने लिखे हैं। इस गाने को आशा भोसले और मोहम्मद रफ़ी ने गाया है। फिल्म यादों की बारात का गाना चुरा लिया है तुमने जो दिल को।

chura liya hai tune jo dil ko Lyrics

Chura Liya Hai Tune Jo Dil Ko Lyrics

चुरा लिया है तुमने जो दिल को
नज़र नहीं चुराना सनम
बदल के मेरी तुम ज़िंदगानी
कहीं बदल ना जाना सनम

ले लिया दिल, हाय मेरा दिल
हाय दिल लेकर मुझको ना बहलाना

चुरा लिया है तुमने जो दिल को
नज़र नहीं चुराना सनम
बदल के मेरी तुम ज़िंदगानी
कहीं बदल ना जाना सनम

बहार बनके आऊँ कभी
तुम्हारी दुनिया में
गुज़र ना जाए ये दिन कहीं
इसी तमन्ना में

बहार बनके आऊँ कभी
तुम्हारी दुनिया में
गुज़र ना जाए ये दिन कहीं
इसी तमन्ना में

तुम मेरे हो, हो तुम मेरे हो
आज तुम इतना वादा करते जाना
चुरा लिया

चुरा लिया है तुमने जो दिल को
नज़र नहीं चुराना सनम
बदल के मेरी तुम ज़िंदगानी
कहीं बदल ना जाना सनम

सजाऊँगा लुट कर भी तेरे
बदन की डाली को
लहू जिगर का दूँगा हंसीं
लबों की लाली को

सजाऊँगा लुट कर भी तेरे
बदन की डाली को
लहू जिगर का दूँगा हंसीं
लबों की लाली को

है वफ़ा क्या, इस जहां को
एक दिन दिखला दूँगा मैं दीवाना
चुरा लिया

चुरा लिया है तुमने जो दिल को
नज़र नहीं चुराना सनम
बदल के मेरी तुम ज़िंदगानी
कहीं बदल ना जाना सनम

ले लिया दिल, हाय मेरा दिल
हाय दिल लेकर मुझको ना बहलाना
चुरा लिया है तुमने जो दिल को
नज़र नहीं चुराना सनम

Post a Comment (0)
Previous Post Next Post