क्‍या खूब लगती हो Kya khoob lagti ho Lyrics

गाना- क्या खूब लगती हो
गायक – मुकेश, कंचन
संगीत – कल्याणजी, आनंदजी
गीत – इंदीवर

Kya khoob lagti ho Lyrics

Kya khoob lagti ho Lyrics

क्‍या खूब लगती हो
बडी सुन्‍दर दिखती हो
क्‍या खूब लगती हो
बडी सुन्‍दर दिखती हो

फिर से कहो कहते रहो
अच्‍छा लगता है
जीवन का हर सपना अब
सच्‍चा लगता है

क्‍या खूब लगती हो
बडी सुन्‍दर दिखती हो
क्‍या खूब लगती हो
बडी सुन्‍दर दिखती हो
तारीफ करोगे कब तक
वोलो कब तक

मेरे सीने में सॉस रहेगी जब तक
कब तक मैं रहूगी मन में हॉ मन में
सूरज होगा जब तक नील गगन में

फिर से कहो कहते रहो
अच्‍छा लगता है
जीवन का हर सपना
अब सच्‍चा लगता है

क्‍या खूब लगती हो
बडी सुन्‍दर दिखती हो
तुम प्‍यार प्यारी हो
तुम जान हमारी हो

खुश हो ना मुझे तुम
पाकर मुझे पाकर
प्‍यासे दिल को
आज मिला है सागर
क्‍या दिल में है और

तमन्‍ना है तमन्‍ना
हर जीवन में
तुम मेरे ही बनना

फिर से कहो कहती रहो
अच्‍छा लगता है
जीवन का हर सपना
अब सच्‍चा लगता है
क्‍या खूब लगती हो
बडी सुन्‍दर दिखती हो

तुम प्‍यार प्यारे हो
तुम जान हमारी हो
तुम प्‍यार प्यारे हो
तुम जान हमारी हो

Post a Comment (0)
Previous Post Next Post