माँ बाप के पग चरणों में बन्दे Maa Baap Ke Charno Mein Bande

Maa Baap Ke Charno Mein Bande Lyrics

माँ बाप के पग चरणों में बन्दे 

 न इनसे बढ़कर तीरथ 

न दौलत माल खजाना


माँ बाप के पग चरणों में 

बन्दे शीश झुकना


न इनसे बढ़कर तीरथ 

न दौलत माल खजाना


माँ बाप के पग चरणों में 

बन्दे शीश झुकना


नो वर्ष माँ ने बन्दे 

तेरा बोझा खोया

तुझे गोदी था पुचकारा 

जब जब तू कभी रोया 


नो वर्ष माँ ने बन्दे 

तेरा बोझा खोया


तुझे गोदी था पुचकारा 

जब जब तू कभी रोया 


तुझे छाती पे चिपका के 

न भूली दूध पिलाना


माँ बाप के पग चरणों में 

बन्दे शीश झुकना


तुझे ऊँगली पकड़ चलाया 

दिखलाई दुनिया दरी


वो मंत्र मुग्ध बचपन में

सुन सुन कर तेरी किलकारी 


तुझे खुद से अच्छा देके 

बस्तर और पीना खाना 


माँ बाप के पग चरणों में 

बन्दे शीश झुकना


तूं जो कुछ आज बना है 

तेरी पहचान पिता है


सब धरम करम से बढ़कर

तेरा भगवान पिता है


सब धरम करम से बढ़कर

तेरा भगवान पिता है


उनके नाजुक हृदय को

मत गलती से तड़पना


माँ बाप के पग चरणों में 

बन्दे शीश झुकना


तुझे समरथ किया उन्होंने

सदा संस्कार सिखलाया


न माँ बाप से ऊँची

कोई दौलत और माया


भगवान् चाँद तू उनकी

सदा मान और सम्मान बढ़ाना  

Post a Comment (0)
Previous Post Next Post