माया माया माया मैं तो माया में फस गयी रे Main To Maya Mein Phas Gayi Re

Main To Maya Mein Phas Gayi Re Lyrics

मैं तो माया में फस गयी रे

 माया माया माया गुरु जी 

मैं तो माया में फस गयी रे


माया माया माया गुरु जी 

मैं तो माया में फस गयी रे


पहली रोटी मैंने गाय की बनाई

पहली रोटी मैंने गाय की बनाई


सबसे छोटी बनाई गुरु जी 

मैं तो माया में फस गयी रे


दूजी रोटी मैंने कुत्ते की बनाई

दूजी रोटी मैंने कुत्ते की बनाई


उससे से भी छोटी बनाई गुरु जी 

मैं तो माया में फस गयी रे


तीजा बुलावा मेरे पीहर सेआया  

ये ले जाऊं यान वो ले जाऊं 


मैं तो माया में फस गयी रे

ये ले जाऊं यान वो ले जाऊं 


माया माया माया गुरु जी 

मैं तो माया में फस गयी रे


चौथा बुलावा मोहे राम जी से आया

पल भर में संग लग ली गुरु जी 

मैं तो माया में फस गयी रे


धर्म राज जी ने लेखा माँगा

क्या करनी कर आयी गुरु जी 

मैं तो माया में फस गयी रे


माया माया माया गुरु जी 

मैं तो माया में फस गयी रे


धर्म करम मैंने कुछ नहीं कीना

यही करनी कर आई गुरु जी 

मैं तो माया में फस गयी रे


चार दिनों की मोहलत दे दो

सब करनी कर आऊं गुरु जी 

मैं तो माया में फस गयी रे


सब करनी कर आऊं गुरु जी 

मैं तो माया में फस गयी रे


माया माया माया गुरु जी 

मैं तो माया में फस गयी रे

Post a Comment (0)
Previous Post Next Post