मत बुरे कर्म कर बन्दे Mat Bure Karam Kar Bande

Mat Bure Karam Kar Bande Lyrics

 मत बुरे कर्म कर बन्दे

 मत बुरे कर्म कर बन्दे,वरना पछताएगा

भगवान की नजर से, ना बच पाएगा


अरे ओ अभिमानी , मत कर नादानी

अरे ओ अभिमानी , मत कर नादानी


जब जाएगा तुं बन्दे, यम के दरबार में

ना बने हिमाती तेरा, कोई संसार में


ये कुटुम्ब कबीला तेरा, ना तुझे बचाएगा

भगवान की नजर से, ना बच पाएगा


अरे ओ अभिमानी , मत कर नादानी

अरे ओ अभिमानी , मत कर नादानी


जिस के लिये करता है, तुं छल और बेईमानी

कोई नहीं है तेरा, ये बात न पहचानी


अपने कर्मों का फल तुं,खुद ही पाएगा

भगवान की नजर से, ना बच पाएगा


अरे ओ अभिमानी , मत कर नादानी

अरे ओ अभिमानी , मत कर नादानी


मत बुरे कर्म कर बन्दे,वरना पछताएगा

भगवान की नजर से, ना बच पाएगा


अरे ओ अभिमानी , मत कर नादानी

अरे ओ अभिमानी , मत कर नादानी


मत बुरे कर्म कर बन्दे,वरना पछताएगा

भगवान की नजर से, ना बच पाएगा

Post a Comment (0)
Previous Post Next Post