तुमसे मिलकर ना जाने क्यों Tumse Milkar Na Jane Kyu

गीत – तुमसे मिलकर ना जाने क्यों
गायक- लता मंगेशकर
गीतकार – शमशुल हुदा बिहारी
संगीत – लक्ष्मीकांत प्यारेलाल

Tumse Milkar Na Jane Kyu Lyrics

तुमसे मिलकर ना जाने क्यों
तुमसे मिलकर ना जाने क्यों
और भी कुछ याद आता हैं
याद आता हैं

तुमसे मिलकर ना जाने क्यों
तुमसे मिलकर ना जाने क्यों
और भी कुछ याद आता हैं
याद आता हैं

आज का अपना प्यार नहीं हैं
आज का अपना प्यार नहीं हैं
जन्मो का यह नाता हैं..
यह नाता हैं

तुमसे मिलकर ना जाने क्यों
तुमसे मिलकर ना जाने क्यों

ओ प्यार के कातिल प्यार के दुश्मन
लाख बनी यह दुनिया दीवानी

ो हमने वफ़ा की राह ना छोड़ी
हमने तोह अपनी हार ना मानी
उस मोड़ से भी हम गुजरे है
जिस मोड़ पे सब लुट जाता है
लुट जाता हैं

तुमसे मिलकर ना जाने क्यों
तुमसे मिलकर ना जाने क्यों
और भी कुछ याद आता हैं
याद आता हैं

तुमसे मिलकर ना जाने क्यों
तुमसे मिलकर ना जाने क्यों

एक तेरे बिना इस दुनिया की
हर चीज अधूरी लगती है

तुम पास हो कितने पास मगर
नजदीकी भी दुरी लगाती है
प्यार जिन्हे हो जाए उन्हें
कुछ और नज़र कब आता हैं..
कब आता हैं

तुमसे मिलकर ना जाने क्यों
तुमसे मिलकर ना जाने क्यों
और भी कुछ याद आता हैं..
याद आता हैं

तुमसे मिलकर ना जाने क्यों
तुमसे मिलकर ना जाने क्यों

मर के भी कभी जो ख़त्म ना हो
यह प्यार का वह अफ़साना हैं

तुम भी तोह हमारे साथ चलो
तोह हमको वह तक जाना हैं

वह झूम के अपनी धरती से
आकाश जहा मिल जाता हैं
मिल जाता हैं

तुमसे मिलकर ना जाने क्यों
तुमसे मिलकर ना जाने क्यों
और भी कुछ याद आता हैं..
याद आता हैं

तुमसे मिलकर ना जाने क्यों
तुमसे मिलकर ना जाने क्यों

Post a Comment (0)
Previous Post Next Post