हम तो बांके बिहारी के दर जाएँगे Hum To Banke Bihari Ke Dar Jayenge

Hum To Banke Bihari Ke Dar Jayenge Lyrics

न इधर जायेंगे न उधर जाएंगे

 जय जय कृष्णा जय राधे श्याम

न इधर जायेंगे न उधर जाएंगे


हम तो बांके बिहारी  के दर जाएँगे 

ये न पूछो कहाँ और किधर जाएँगे 


मुरली वाले की मूरत मनोहर बड़ी

जी करे मैं निहारूं करूँ हर घडी


बंसी वाले का रूप मन भावन लगे

ख़ुशी बरसा रहा जैसे सावन लगे


आँख भर के जो देखूं सुध बुध खो जाये

प्यारी छवि गिरधर की लुभावन लगे


मुरली वाले की मूरत मनोहर बड़ी

जी करे मैं निहारूं करूँ हर घडी


चूम कर उनकी चौखट स्वर जाएंगे

हम तो बांके बिहारी के दर जाएंगे 


न इधर जायेंगे न उधर जाएंगे

हम तो बांके बिहारी  के दर जाएँगे 


है सुना ब्रज धाम जो जाते हैं

कृष्ण उनके वो कृष्णा के हो जाते हैं


इरादे सैंकड़ों बनते हैं

बनके  टूट जाते हैं

बृन्दावन  वही जाते हैं 

जिन्हे बिहारी बुलाते हैं 


है सुना ब्रज धाम जो जाते हैं

कृष्ण उनके वो कृष्णा के हो जाते हैं


सारी खुशिओं को झोली में भर लकायेंगे

हम तो बांके बिहारी  के दर जाएँगे 


न इधर जायेंगे न उधर जाएंगे

हम तो बांके बिहारी  के दर जाएँगे 


गहरा सागर है बीच मझदार है

श्याम के हाथों में मेरी पतवार है 


न दिन की फ़िक्र न रात की चिंता

न रही मुझे अपने हालात की चिंता


डगर अंजना है जीवन की 

और कठिनाइआ भी हैं 


मगर जब साथ में है 

शाम फिर किस बात की चिंता


गहरा सागर है बीच मझदार है

श्याम के हाथों में मेरी पतवार है 


रवि संजय के संग पार कर जाएंगे

हम तो बनके बिहारी के दर जाएंगे 

Post a Comment (0)
Previous Post Next Post